Editor's Choice:

about tourism उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

Share this on Facebook!

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

Indiaonline
Close

Want more stories like this?

Like us on Facebook to get more!
Close

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल


उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

भारत एक ऋषि-मुनियों की भूमि है। यहां कई ऋषि-मुनि, महात्माओं एवं देवी-देवताओं ने अवतरण लिया है। यहां के प्रत्येक हिस्से में कोई ना कोई रहस्य, कोई इतिहास अवश्य छिपा हुआ है जो इस क्षेत्र और राज्य की पहचान का प्रतिक है। भारत तीन ओर से समुद्र से घिरा है तो एक और पहाड़ों से ढकां हुआ है। इसके 13 राज्यों की सीमा से समुद्र लगा हुआ है। यहां एक ओर जहां जंगल है तो दूसरी ओर रेगिस्तान है। यहां चारों धाम की यात्रा में सभी तरह के नजारों के दर्शन हो जाते हैं। भारत आस्था-विश्वास के साथ विज्ञान की भी भूमि है। भारत दुनिया का सबसे सुंदर देश हैं। भारत को प्रकृति ने एक ओर जहां अनुपम और भरपूर सुंदरता से सजाया है तो दूसरी ओर अध्यात्म की गंगा भी बहाई है। भारत में एक ओर हिमालय है तो  दूसरी और खूबसूरत समुद्री तट निहित है। भारत की चारों दिशाओं में फैले राज्यों और क्षेत्रों की अपनी-अपनी विशेषता, अपना-अपना इतिहास है। यही कारण है कि देश के साथ-साथ विदेशी पर्यटकों की भी पहली पसंद भारत होती है। आज भारत में पर्यटन भली-भांति फल फूल रहा है। भारत की चारों दिशाओं पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण में से उतर दिशा को भारत का स्वर्ग भारत का ताज कहा जाता है। हम आपकों इस आर्टिकल के माध्यम से भारत के उत्तरी क्षेत्र के पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहे हैं जो पर्यटन के साथ-साथ भारत के गौरव को भी बढ़ा रहा है।

उत्तरी भारत, भारत का स्वर्ग कहलाता है क्योंकि यहां के क्षेत्र विदेशी क्षेत्रों की तुलना में कही अधिक समृद्ध और सुंदर हैं। यहां पर्यटन के आधुनिक क्षेत्र भी हैं और ऐतिहासिक स्थल भी। यहां पहाड़ों की ठंडी वादियां भी है तो नदी-धरनों का अनपम संगम भी है। यहां संस्कृति एवं सभ्यता से भरा इतिहास भी है तो धार्मिक स्थलों की शांतिमय गूंज भी है। भारत का उत्तरी क्षेत्र अपने खान-पान से लेकर अपनी बोली-भाषा अपने वस्त्रों तक के लिए पूरे भारत सहित विश्व भर में प्रसिद्ध है। उत्तर भारत में कई जगहें हैं, जो आपको कुछ बेहतरीन अवसर प्रदान करती हैं। आप यहां जाकर इन खास जगहों की विविध संस्कृति, इतिहास और परंपराओं को समझ सकते हैं।

यहां कश्मीर घाटी की सुंदरता से लेकर देश की राजधानी दिल्ली में व्याप्त ऐतिहासिक गाथा भी है। हरिद्वार वाराणसी में सांस्कृति और धार्मिक स्थलों से लेकर पंजाब और लखनऊ का खान-पान वेष-भूषा भी है। यहां गर्मी से लेकर बरसात की फुहारों के स्थल मौजूद है। वंसत से लेकर शरद ऋतु तक का अनुभव किया जा सकता है।   उत्तर भारत पर्यटन स्थलों में विभिन्न आकर्षण प्रदान करता है। देश का यह हिस्सा सांस्कृतिक और पारंपरिक विरासत के अपने समृद्धि के लिए प्रसिद्ध है। यहां हिंदू मंदिरों, स्मारकों, नृत्य की कलाओं से भरा हुआ है। आप भारत में गर्मियों से राहत पाना चाहते हैं तो आप यहां शिमला, मनाली और नैनीताल जैसे पहाड़ी स्टेशन जा सकते हैं।


उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

उत्तर भारत वन्यजीव उत्साही लोगों का भी क्षेत्र है। यहां रोमांच पसंद करने वालों के लिए भी भरपूर स्थल मौजूद है। रामनगर में जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, राजाजी नेशनल पार्क और हिमाचल प्रदेश में अन्य वन्यजीव अभ्यारण्य यहां के प्रमुख वन्यजीव स्थल है। भारत का कोई भी अन्य हिस्सा उत्तरी भारत की साहसिक पर्यटन की तुलना नहीं कर सकता। लेह-लद्दाख की यात्रा में आप साहसिक खेलों की तरफ आकर्षित होगे जहां आप पैराग्लाइंडिंग, रॉक क्लाइबिंग, बंजी जंपिंग, और ट्रेंकिग जैसे कई रोमांचकारी खेल खेल सकते हैं। उत्तर भारत की यात्रा वाराणसी, हरिद्वार, मथुरा, वृंदावन, ऋषिकेश और जम्मू और पंजाब और दिल्ली के गुरुद्वारों, उत्तर प्रदेश और अन्य स्थानों में मस्जिदों जैसे धार्मिक स्थानों की यात्रा के बिना पूरी नहीं हो सकती।

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

श्रीनगर के बहाने आप भारत के सबसे खूबसूरत राज्य जम्मू और कश्मीर में घूम सकते हैं। यहां जहां अमरनाथ, वैष्णोदेवी की गुफा है तो दूसरी ओर बर्फ से ढंगे खूबसूरत पहाड़, झील और लंबे-लंबे देवतार के वृक्षों को देख सकते हैं।  कश्मीर घाटी में बसा श्रीनगर भारत के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है और खासकर हनीमून के लिए तो ये हमेशा से आइडियल डेस्टिनेशन रहा है। 1700 मीटर ऊंचाई पर बसा ये शहर विशेष तौर पर झीलों और हाउस बोट के लिए जाना जाता है। कमल के फूलों से सुसज्जित डल झील पर कई खूबसूरत नावों पर तैरते घर हैं जिन्हें हाउस बोट कहा जाता है। आप यहां लेह-लद्धाख की सुंदरता के साथ हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की सुंदर वादियों को भी देख सकते हैं। मनाली, शिमला, कौसोली, चोपता, नैनीताल इत्यादि जैसी प्राकृतिक सुंदरताओं से भरी जगहों का आनंद ले सकते हैं जो आपको एक अविस्मरणीय यात्रा प्रदान करती हैं।

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

वहीं देश के चार बड़े महानगरों में से एक राजधानी दिल्ली भारत का गौरव है। यहां पर गौरवशाली इतिहास बताने वाली इमारतें, स्मारक, किले, बगीचे तथा व्यस्ततम बाजार और सड़के है जो पूरे देश की छवि एक साथ बताते है का आनंद ले सकते हैं। दिल्ली का लाल किला, कुतुबमिनार, जंतर-मंतर, संसद भवन, मुगल गार्डन, मेट्रो रेल, लोदी गार्डन, स्वामीनारायण अक्षरधारम मंदिर आदि मुख्य आकर्षण है जो पर्यटकों का मन मोह लेते है। यहां से देश के हर बड़े और छोटे शहर में जाने के लिए बस, रेल तथा हवाई जहाज यातायात की सुविधा है। आप यहां खान-पान का भी आनंद ले सकते हैं जिसमें पुरानी दिल्ली का चांदनी चौक के व्यंजन बहुत प्रसिद्ध है।

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

 वहीं उत्तर भारत में आप कई ऐतिहासितक स्थलों का भी दीदार कर सकते हैं जो भारत के गौरवशाली राजाओं और बादशाहों के स्मृति चिन्ह को परिभाषित करते हुए भारत का इतिहास प्रदर्शित करते हैं। उत्तर प्रदेश का आगरा शहर का अपने प्रेम के इतिहास के लिए विश्व प्रसिद्ध है। यहां का मुख्य आकर्षण यमुना नदी के किनारे बसा ताजमहल है जिसे मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में बनाया था। प्रेम के प्रतीक इस स्मारक को देखने देशी-विदेश से लाखों पर्यटक आते हैं। इसके अलावा लाल किला, फतेहपुर सीकरी का बुलंद दरवाजा, मेहताब बाग, पंचमहल, मोती मस्जिद, अंगूरी बाग, शाह बुर्ज आदि आकर्षण के बड़े केंद्र है।

उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

वहीं यदि आप धार्मिक रंग में रगंना चाहते हैं तो भी उत्तर भारत के पास एक से बढ़कर एख धार्मिक स्थल है इनमें कैदारनाथ, बदरीनाथ, मनसा देवी मंदिर के साथ-साथ गंगा नदी किनारे बसी धार्मिक नगरी वाराणसी पूरे भारत में अपना पूजनीय स्थान रखती है। इसे बनारस और काशी भी कहते हैं। इसे हिन्दू धर्म में सर्वाधिक पवित्र शहर माना जाता है। यहां पर हिंदू धर्म के कई देवी-देवताओं के साथ जैन तथा बौध प्राचीन मंदिर है। यहां का मुख्य आकर्षण गंगा पूजा, गंगा नदी, सारनाथ, दशाश्वमेघ घाट, अस्सी घाट, योग प्रशिक्षण केंद्र, बनारस घाट, काशी विश्वनाथ मंदिर, मानमंदिर घाट, संकट मोचन मंदिर आदि है। उत्तराखण्ड का हरिद्वार जिला एक पवित्र नगर तथा हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थ है। हिंदू धार्मिक कथाओं के अनुसार, हरिद्वार वह स्थान है जहाँ अमृत की कुछ बूँदें भूल से घड़े से गिर गयीं जब गरुड़ उस घड़े को समुद्र मंथन के बाद ले जा रहे थे। वैसे तो आप सभी हरिद्वार को महाकुम्भ के आयोजन स्थल के रूप में जानते ही होंगे आप ये नहीं जानते होंगे जी यहाँ और भी बहुत पवन स्थल है जहाँ आप परिवार के साथ घूमने जा सकते है |  यह स्थल ना केवल आपकों अनुपम शांति का एहसास कराएंगे बल्कि आपको शहरों के शोर- शराबों से दूर सुंदर दृश्यों का भी आनंद देंगें।

वहीं दूसरी और आप लखनऊ एवं पजांब, हरियाणा का खान-पान और वेष-भूषा का आनंद भी उठा सकते हैं। यहां के लज़ीज पकवान आपके मुंह में पानी ले आने का दम रखते हैं। उतरी भारत के यह स्थल किसी का भी मन मोह लेने की क्षमता रखते हैं। तो देर किस बात की आप भी निकल पड़िए उत्तरी भारत की इस शानदार यात्रा का आनंद लेने।
2948
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • COMMENT
  • LOVE THIS 0

Related Links

Comments / Discussion Board - उत्तर भारत में पर्यटन स्थल

Loader