Editor's Choice:

about tourism भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

Share this on Facebook!

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

Indiaonline
Close

Want more stories like this?

Like us on Facebook to get more!
Close

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

धरती सुनहरी अम्बर नीला, हर मौसम रंगीला ऐसा देश है मेरा.. जी हां आपने वीर जारा फिल्म का यह गीत तो अवश्य देखा और सुना होगा। जिसमें फिल्म के नायक और नायिका बस में बैठ कर भारत के सुंदर नजारें को देखते हैं और उसकी प्रशंसा करते हैं। बिल्कुल ऐसा ही नजारा देखने को मिलता है जब आप भारत में बस से सफर तय करते हैं। भारत एक विविधताओं की भूमि है। भारत पर्यटन के लिहाज से एक संपूर्ण देश है। यहां  नदी, पहाड़, झीलों से लेकर, ऐतिहासिक इमारतें, किले, पर्यावरण, सांस्कृतिक एवं सामाजिक परिवेश निपूर्ण हैं। भारत में हर तरह के पर्यटन प्रेमियों के लिए चीजें उपलब्ध है। भारत दर्शन करने के लिए यूं तो हवाई, जहाज, टैक्सी और रेलों की उपलब्धता भरपूर है किन्तु भारत में कुछ ऐसी जगह भी है जहां बसों से सफर करने का एक अपना ही अलग मजा है।

यदि आप भारत से हैं, और कोई सुझाव देता है कि आपको बस से अपने गंतव्य तक यात्रा करने की ज़रूरत है, तो आप इसके बारे में रोमांचित नहीं होंगे। हालांकि, बसें भारत में काफी लोकप्रिय हैं। किन्तु बसों से सफर करने के बारे में भारतीय एक बार को सोचते हैं कि कौन बसों में धक्के खाए लेकिन बसों का सफर भारत के कई इलाकों में कोई आम सफर नहीं होता। इन स्थलों पर बसों से की गई यात्रा आपको अद्भुद नजारों की सैर कराते हुए अविस्मरणीय यादें दे जाएगीं। बसो से यात्रा करने पर आपकों भारत की सुंदरता को देखने और प्रकृति के करीब होने का एहसास उत्पन्न होगा। बसों से विभिन्न मार्गों की यात्रा करने के कारण, आप पूरे देश की सुंदर घाटियां, चमकती नदियां, ऊंचे पहाड़, हरे मैदानों का अद्भुद नजारा देखेंगे। जिनके बारे में आपने पहले कभी नहीं सोचा होगा। आप कहाँ हैं, और कहां आप जाना चाहते हैं, वहां हमेशा कम से कम एक मार्ग होगा जो आपके दिमाग को उत्साहित कर देगा। बसें आमतौर पर भीड़ असुविधाजनक यात्रा, अनुसूची में देरी, हर तरह के झटके, प्रदूषण और धूल की याद आपकों दिलाती होगीं किन्तु भारत में आप पाए जाने वाली कुछ सबसे बड़ी यात्रा बसों पर की जा सकती है जो आपको इन परेशानियो से दूर ले जाकर अनुपम एहसास प्रदान करेंगी।

भारत दुनिया भर पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। भारत यात्रा का देश है जो पर्यटकों के लिए एक स्वर्ग है। दुनिया भर से पर्यटक भारत की मनोरम दृश्यावली, सांस्कृतिक विविधता, भौगोलिक विविधता और शांति की खोज में आते हैं। भारत में बहुत से सुंदर पर्यटन स्थल मौजूद है, जहां पर आप सुकून के कुछ पल बिता सकते हैं। भारत तेजी से विदेशी पर्यटकों के लिए पसंदीदा गंतव्य के रूप में उभर रहा है। हर वर्ष दुनिया के कोने-कोने से पर्यटक भारत आते हैं और यहां की विविधता का आनंद लेते हैं। कभी त्योहार तो कभी किसी समारोह में आने वाले विदेशी पर्यटक यहां के रंग में रंग जाते हैं। यदि आप देश के दक्षिणी तटीय क्षेत्रों की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, तो आप समुद्र तटों और खूबसूरत महासागरों को कवर करने वाले महान बस पर्यटन पाएंगे। यदि आप देश के उत्तर पश्चिमी भाग में जाते हैं, तो आप मुगल साम्राज्यों और यहां तक कि पहले की विरासतों, भवनों, कलाकृतियों और प्रतिष्ठानों के माध्यम से बस की सवारी पा सकते हैं। हिमालय की तलहटी पर, आपको बड़ी संख्या में बस सवारी मिल जाएगी जो तेज मोड़ वाली संकीर्ण सड़कों से होती हुई अत्यधिक साहसी यात्रा का अनुभव कराएगी। उत्तर और उत्तर पूर्वी भारत कुछ बेहतरीन विचारों को प्रदान करता है जिन्हें आप जरुर देखना चाहेगें। देश के पूर्वी हिस्से में फिर से आप भारत में ब्रिटिश शासनकाल, कुछ विरासत और वास्तविक भारतीय संस्कृति की एक झलक को बसों के माध्यम से देख सकते हैं। बसों की यह यात्रा आपके अनुभवों में सुनहरी यादों को संजो देगीं। हम आपकों भारत के कुछ ऐसी ही बस यात्रों के बारे में बता रहे हैं जहां आप बसों से जाना अवश्य पसंद करेगें।

चेन्नई से पुदुच्चेरी की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत के दक्षिणी प्रांत में बंगाल की खाड़ी के किनारे भारतीय तट रेखा पर बेहतरीन बस सेवा का आनंद लेने के लिए आपको चेन्नई से पुदुच्चेरी की अविस्मरणीय यात्रा अवश्य करनी चाहिए। जब आप चेन्नई शहर से बाहर निकलते हैं, तो आप देखेंगे कि, व्यस्त सड़कों और भारी यातायात है। हालांकि, जैसा ही आप धीरे-धीरे शहर से दूर जाते रहेंगे हैं वैसे ही सुंदरता से आपकीं आखें पीछे नहीं हटेगीं। यात्रा के कुछ हिस्सों में, सड़क के किनारे आप बंगाल की खाड़ी की झलक देख सकते हैं, और दूसरी तरफ, आप क्षितिज तक फैले बागानों की बड़ी भूमि देख सकते हैं। यदि आप शाम की बस लेते हैं, तो आपको पुदुच्चेरी में पहुंचने से पहले क्षितिज पर सूर्योदय दिखाई देगा। यदि आप सुबह की बस लेते हैं, तो आप वृक्षारोपण के खेतों में नारंगी सूर्यास्त भी देख सकते हैं। जो अपने आप में एक अनपुम दृश्य होता है।

यात्रा की अवधि: इस छोटी सी सवारी को पूरा होने में केवल 3 घंटे लगते हैं, लेकिन इस यात्रा के दौरान आपको जीवनभर तक चलने वाली यादे मिल जाएगीं। अलग-अलग बसें यहां अलग-अलग समय पर जाती हैं।

अनुमानित किराया: आप जिस बस सेवा को ले रहे हैं उसके आधार पर, किराए में बहुत भिन्नता हो सकती है। एसी वाली बसों का औसत किराया 300 रुपय प्रतिव्यक्ति हो सकता है। एसी अर्ध स्लीपर वोल्वोस थोड़ा महंगा होता जिसका किराया 500 रुपये के करीब हो सकता है।

बेंगलुरू से ऊटी की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

तटीय भारत के एक हिस्से के रुप में शामिल करने वाले पसंदीदा बस मार्ग में से एक, बेंगलुरू से ऊटी की यात्रा है जो आपको दिखाएगी कि कितने अलग-अलग शहरों को बंद किया जा सकता है। बेंगलुरू भारत के सबसे व्यस्त शहरों में से एक है, जो संकीर्ण सड़को और कारों के जमाव तक सिमट कर रह गया है।  हालांकि, जब आप मैसूर शहर पहुंचते हैं, तो आप सड़कों को चौड़ा देख सकते हैं और शहर के ऐतिहासिक महत्व को केवल एक नज़र से महसूस कर सकते हैं। यहां के स्मारक प्रतिष्ठान आपके मस्तिष्क पर छाप छोड़ देंगे। आप धीरे-धीरे शहर के शोर-शराबों से दूर हो जाते हैं और ऊटी तक पहुंच जाते हैं। यहां न केवल आप प्रदूषण मुक्त हवा और चौड़े कोण के दृश्यों में बदलाव देखेंगे, बल्कि आप तापमान में भी अचानक गिरावट महसूस करेगें। यात्रा के दौरान आप लज़ीज व्यंजनों का भी यहां लुत्फ उठा सकते हैं जिसमें आपको स्थानीय मसालों का प्रभाव मिलेगा। इस यात्रा में आप बनिपुर राष्ट्रिय पार्क पाएंगे, जहां आप वनस्पति देख सकते हैं और यदि आप भाग्यशाली हैं तो आप कुछ वन्यजीवों की भी झलक पा सकते हैं।

अवधि: बैंगलोर से ऊटी की बस की सवारी सड़क माध्यम से लगभग 7 घंटे लंबी है। आपके पास झपकी मारने के लिए भी पर्याप्त समय हो सकता है किन्तु फिर भी आप अपनी आंखों को खुली रखें और इस खूबसूरत सफर के नजारों का गवाह बनें।

अनुमानित किराया: गैर एसी स्लीपर और एसी अर्ध स्लीपर दोनों पर किराया करीब है, लगभग 1000 रुपये है। आपको विभिन्न बस सेवाओं से अलग-अलग कीमतों पर सीट मिल सकती हैं।

बेंगलुरू से गोवा की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत का तटीय क्षेत्र गोवा विश्व भर में प्रसिद्ध है। गोवा में सभी चीजों का आनंद लिया जा सकता है। अगर आपको अच्छे आराम की ज़रूरत है, तो आप हमेशा गोवा जा सकते हैं, बेंगलुरू से गोवा की बस की सवारी के एक से अधिक तरीकें आपको खुश कर सकते हैं। सबसे पहले, सवारी के दौरान आप बेंगलुरू के व्यस्त शहरी जीवन से आराम पाकर निस्संदेह छुट्टी का मजा यहां ले सकते हैं। आप यात्रा के दौरान पश्चिमी तट के साथ आगे बढ़ते हैं और कुछ बेहतरीन नजारों को देखते हैं। इसके अलावा, आप अपने रास्ते पर कुछ महान शहरों और गांवों को पारित करेंगे जो आपको ग्रामीण भारत के वास्तविक मूल्य को समझने में मदद करेंगी। कर्नाटक और गोवा दोनों राज्यों में राजमार्ग अद्भुत हैं इसलिए आपको सवारी के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। एक बस से गोवा की सवारी समान रूप से मोहक है। आप इस यात्रा को किसी भी दिन कर सकते हैं क्योंकि यहां के लिए नियमित बस सेवा उपलब्ध रहती है।

अवधि: बैंगलोर से गोवा की यात्रा में लगभग 10 घंटे लगते हैं। सड़कें बहुत बढ़िया हैं और राजसी हैं, आप पूरी यात्रा में एक पल के लिए भी ऊब नहीं पाएंगे।

अनुमानित किराया: यह सवारी आपको लगभग 70 रुपये में पढ़ेगी। लेकिन यात्रा उस पर खर्च होने वाला हर पैसा पूरी तरह से आपको देना होगा फिर वो चाहे स्वादिष्ट खाना हो या पेय पदार्थ।

दिल्ली से मनाली की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत में सबसे लोकप्रिय बस यात्राओं में से एक है भारत की राजधानी दिल्ली से मनाली की यात्रा। जो गर्मियों में सबसे अच्छे रुप में की जाती है। हिमाचल प्रदेश राज्य मे स्थित मनाली तक दिल्ली से शुरु हुई इस यात्रा में आप एक पल के लिए भी उब नहीं पाएगें। दिल्ली की भीड़ और शहर की सहन ना कर पाने वाली गर्मी से राहत पाने के लिए मनाली से अच्छी जगह और कोई नहीं हो सकती। मनाली भारत में सबसे अच्छा ट्रेकिंग गंतव्य है। हालांकि, इस बस की सवारी करने का मुख्य कारण पूरी यात्रा के दौरान देखे जाने वाले अद्भुत मार्ग का आनंद लेना है। यद्यपि यह एक व्यस्त मार्ग है और रास्ते में कुछ ट्रैफिक हो सकता है, यह सवारी शायद ही कभी निर्धारित समय से विचलित हो जाती है। एक व्यस्त शहर से शांत शहर में जाना एक अनुपम एहसासा दिलाता है। मनाली भारत के सबसे स्वच्छ स्थानों में से एक है। यहां की ठंडी वादियो के नजारें आपको अस्विमरणीय यादें दे जाएगें। हरे-भरे पेड़, पहाड़, नदियां आपका मनोरंजन करेंगी जिन्हें देखना आप छोड़ना नहीं चाहेंगे।

अवधि: दिल्ली से मनाली जाने में लगभग 12 घंटे लगते हैं, लेकिन अलग-अलग बस सेवाएं बीच के स्टॉप की संख्या के आधार पर अलग-अलग कार्यक्रम प्रदान कर सकती हैं। यदि आप शाम को यात्रा शुरू करते हैं तो आप सुबह- सुबह मनाली पहुंच सकते है।

अनुमानित किराया: आपको वोल्वो एसी बसों की सुविधा मिल जाएगी। आप एक बार सवारी बुक कर सकते हैं या एक बार सीट ढूंढ सकते हैं। इसके लिए कई बस सेवा प्रदाता हैं और किराया काफी भिन्न होता है, फिर भी दिल्ली से मनाली तक का अनुमानित किराया लगभग 1000 रुपय हो सकता है।
 

दिल्ली से आगरा की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

दिल्ली हमेशा उत्कृष्ट बस पर्यटन के लिए पसंदीदा जगह है। जहां से आपको प्रत्येक गंतव्य के लिए आसानी से बस मिल सकती है। देश की राजधानी दिल्ली से ताज नगरी आगरा की यात्रा अपने आप में एक अद्भुद बस यात्रा है। जो सीधा आपकों ताजमहल का दीदार कराती है। ताजमहल दुनिया के सात अजूबों में से एक है इसकी सुंदरता अद्वितीय है और दुनिया के सभी हिस्सों के लोग इसकी सिर्फ एक झलक पाने के लिए आना चाहते हैं। इस अद्भुद नजारे को देखने के लिए राजसी सड़कों और विशेष रूप से हाल ही में खोले गए यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से दिल्ली से आगरा तक बस की सवारी आपकी इस यात्रा को बहुत खास बना देती है। आप दिल्ली से अपनी यात्रा शुरू करते हैं, एक शहर जो कि लाल किले और कुतुब मीनार जैसे कुछ महान ऐतिहासिक स्मारकों का घर है वो आपको एक ओर समृद्ध ऐतिहासिक महत्व के शहर आगरा में ले जाता है। फिर आप उत्तर प्रदेश राज्य में प्रवेश करते हैं। अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए रास्ते में आपको ग्रामीण भारत का परिदृश्य भी देखने को मिलता है। जिसके माध्यम से होते हुए आप प्यार के स्मारक ताजमहल की नगरी आगरा में पहुंचते हैं।

अवधि: ग्रेटर नोएडा से दिल्ली तक यमुना एक्सप्रेसवे ने यात्रा समय को केवल 150 मिनट तक का कर दिया है। आप बिना जाम के यहां इस अवधि में पहुंच सकते हैं।

अनुमानित किराया: 210 किलोमीटर की इस यात्रा में आपकों 300 से 400 रुपये के आसपास खर्च करने पड़ सकते हैं। जो आपकी जेब के लिए ज्यादा नहीं है।

मनाली से काज़ा की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

हिमाचल प्रदेश के मार्ग भारत में सबसे सुंदर और साहसी बस मार्गों में से एक हैं। जो आपको कुछ बेहतरीन पहाड़ी ग्रामीण दृश्यों को दिखलाते हुए आपके गंतव्य का गवाह बनते हैं। मनाली से काजा की बस यात्रा आपकों एक ऐसी यात्रा प्रदान करती हैं जो आप कभी भूल नहीं सकते। मनाली से काजा का बस मार्ग केवल गर्मियों के महीनों के दौरान अप्रैल से सितंबर तक खुला रहता है। जिसके बाद फिर बसों को दैनिक आधार पर रद्द कर दिया जाता है। बरसात के मौसम के दौरान आप इस रास्ते में कुछ सबसे खूबसूरत जगहों से गुज़रेंगे, जिनकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। इन खूबसूरत रास्तो में रूथान ला, ग्राम्फू, कुंजम ला और लॉसर शामिल हैं। काजा तक पहुंचने के बीच के यह दृश्य आपमें अनुपम ऊर्जा और खुशी का संचार करेंगे। बरसता के मौसम में यह यात्रा आपको और हसीन लगेगी। यहां आपको सरल-सपाट सड़के तो नहीं मिलेगीं। लेकिन पहाड़ी क्षेत्रों की यह घुमावदारें सड़के आपके रोमांच को और बढ़ा देगीं और आपको एक सहास भरी यात्रा प्रदान करेगीं। यहां आपव अच्छी चिकनी सड़कों की अपेक्षा न करें। केवल सच्चे उत्साही और साहस से प्यार करने वाले लोगों को यह यात्रा करनी चाहिए, क्योंकि यह पूरी तरह से उन्हीं के लायक है जिन्हें साहस पंसद है। एक बार जब आप काज़ा पहुंच जाते हैं, तो आप उट्रेकिंग बेस में रुक सकते हैं। ग्रामीण दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। किन्तु मनाली से काजा की इस यात्रा को आप कभी भी भूल नहीं पाएगें।

अवधि: बस की सवारी में लगभग 10 या 12 घंटे लगते हैं। हालांकि, यह मौसम और सड़क की स्थिति के आधार पर काफी भिन्न होता है।

अनुमानित किराया: 210 किलोमीटर की मनाली से काजा की यात्रा में लगभग 10 घंटे लंबी की यात्रा के दौरान आपको 300 र से 400 रुपये के आसपास कुछ खर्च करना पड़ सकता है।

दिल्ली से उदयपुर की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत में ऐसे कई मार्ग हैं जो आपको अपने गंतव्य तक ले जा सकते हैं लेकिन इनमें से सबसे सुंदर मार्ग कौन सा होगा इसका चुनाव हम नहीं कर पाते है। ऐसा ही एक सुंदर मार्ग है दिल्ली से उदयपुर की यात्रा का जो ना केवल आपको राजाओं की नगरी उदयपुर में ले जाएगा बल्कि अद्भुद मार्गों से होते हुए आपकी यात्रा को और मनोरंजक बनाएगा। दिल्ली से उदयपुर तक पहुंचने के लिए अजमेर के माध्यम से जाना सबसे उत्तम मार्ग है। यद्यपि आपकी यात्रा दिल्ली में शुरू होती है तो यह वो बस की सवारी है जो आपको राजस्थान की विविधताओं से रुबरु कराती है। आप दिल्ली से इस यात्रा की शुरुआत करते हैं और जैसे ही आप राजस्थान में प्रवेश करते हैं तो आप देखेंगे कि जलवायु परिवर्तन हो रहा है।  सबसे पहले आपका गुलाबी शहर, जयपुर द्वारा स्वागत किया जाएगा जो आपको पुराने महलों और इमारतों के साथ बधाई देगा। उसके बाद आप अजमेर में प्रवेश करेगें जो एक धार्मिक स्थान हैं। जहां जीवन के सभी क्षेत्रों के लोग अपने सपनों को पूरा करने के लिए अजमेर शरीफ की दरगाह पर जाते हैं। इसके बाद आप उदयपुर के झील शहर तक पहुंच जाएंगे, तब तक आप इसकी सारी सुंदरता से मंत्रमुग्ध हो चुके होंगे।

अवधि:  दिल्ली से उदयपुर की इस अद्भुद यात्रा को करने में आपको लगभग 12 घंटे लगेंगे।

अनुमानित किराया: वोल्वो में एक मानक एसी स्लीपर के लिए, आपको लगभग 1000 रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं। कुछ अलग-अलग बस सेवाएं हैं जो इसकी सेवा प्रदान करती हैं, और आप इनमें से किसी एक का चुनाव कर सकते हैं।


कोलकाता से दार्जिलिंग की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

भारत में सबसे लंबे समय के लोकप्रिय बस मार्गों में से एक, कोलकाता से दार्जिलिंग की यात्रा है जो सिलीगुड़ी के माध्यम से एक सुपर-फास्ट बस सेवा द्वारा की जाती है। दार्जिलिंग हमेशा से पसंदीदा छुट्टी गंतव्य है, खासकर उबाऊ गर्मी के मौसम के दौरान यहां आना सुखद एहसास कराता है। यह एक लंबी और कठिन यात्रा है, लेकिन यह आपको पश्चिम बंगाल मे स्थित दार्जिलिंग जो अपने चाय के बगानों के लिए विश्व प्रसिद्ध है वहां ले जाएगी। इस यात्रा में आप कई जिलों से गुज़रते हैं और पश्चिम बंगाल राज्य की सभी विविधता को देखते हैं। आप लाल मिट्टी, वास्तविक ग्रामीण जीवनशैली, अन्य सभी अद्भुत स्थलों और ध्वनियों के बीच अलग उच्चारण का स्पर्श महसूस कर सकते हैं। जब आप हिमालय की तलहटी पर चढ़ते हैं तो आप कुछ राजसी नदियां, कुछ महान वृक्षारोपण के खेतों, छोटे वन क्षेत्रों, हरे-भरे वनस्पति को पार करते हुए जाएगें। सिलीगुड़ी पहुंचने के बाद, आप अपने आस-पास पहाड़ों को देखेगें जो आपको राहत का एहसास कराएगा घुमावदार सड़को पर दौड़ती बसों में बैठकर आप पहाड़ों की ढलान के साथ कुछ अद्भुत चाय बागानों का मजा ले सकते हैं। एक बार जब आप इस यात्रा पर निकल जाएंगे तो उन सभी अलग-अलग अनुभवों को शब्दों में बंया कर पाने में मुश्किल महसूस करेगें जिन्हें आप अनुभव करेंगें। यात्रा के अधिकांश भाग के लिए आप राष्ट्रीय राजमार्ग 34 से यात्रा करेंगे।

अवधि: इस यात्रा के लिए लिया गया कुल समय लगभग 13 घंटे है। यह थोड़ी थकाऊ हो सकती है और इतनी लंबी यात्रा करने में मुश्किल हो सकती है, इसलिए आप दार्जिलिंग में 2 घंटे की सवारी करने से पहले एक दिन के लिए सिलीगुड़ी में अपनी यात्रा के दौरान रुक कर सुस्ता सकते हैं।

अनुमानित किराया: सिलीगुड़ी के माध्यम से दार्जिलिंग के लिए गैर एसी बसों की लागत आपको लगभग 400 रुपये होगी। एसी स्लीपर और अर्ध स्लीपर वोल्वो बसें थोड़ी महंगी हैं इनकी कुल कीमत 1000 रुपये के भीतर होगी।

मुंबई से गोवा की बस यात्रा

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

आपने फिल्म बोम्बे टू गोवा अवश्य देखी होगी। जिसमें बसों से यात्रा करने का मनोरंजक रुप पेश किया गया है। मुंबई से गोवा की बस यात्रा आपको कुछ वैसा ही एहसास दिलाती है। यह यात्रा सबसे अधिक की जाने वाली और सबसे पसंदीदा बस यात्राओं में से एक है। इस यात्रा में औसतन 14 घंटे लगते हैं और आपको प्रकृति से भरे सुंदर राजमार्गों और सड़कों पर ले जाते हैं। आप छोटे शहरों के साथ खेतों और कुछ बेहतरीन स्थानीय समुद्री भोजन का आनंद ले सकते हैं। 12 से अधिक ऑपरेटरों गोवा शहर में लक्जरी बस मार्ग प्रदान करते हैं। अधिकांश बसें रात में देर से निकलती हैं और सुबह जल्दी पहुंचती हैं ताकि आप समय और होटल के किराए को भी बचा सकें। वास्तव में, देर रात यात्रा मार्गों में दिन की बसों की तुलना में कम समय लग सकता है। जब तक आप वास्तव में दृश्यों का आनंद नहीं लेते तो यात्रा करने का कोई मतलब नहीं बनता है। जो लोग गंतव्य का मजा लेते हुए से यात्रा करने में विश्वास करते हैं, उनके लिए बस मार्ग का आनंद दुगना हो जाता है जो मुंबई से गोवा की यात्रा में आपको भरपूर मिलेगा।

अवधि - मुंबई से गोवा की यात्रा रात में या कभी भी 10-12 घंटे के बीच का समय लेती है। बसें रुक रुक के आराम देती हुईं चलती है। ताकि आप अपने पैरों को फैला सकें और कुछ स्थानीय भोजन और गर्म चाय का आनंद उठा सकें।

अनुमानित किराया- मानक बस यात्रा के लिए बस किराया 350 रुपये से शुरू होता है और लक्जरी बसों के लिए लगभग 900 रुपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं जो भोजन भी प्रदान करतें है। स्लीपर बस भी उपलब्ध हैं जो इष्टतम सुविधा प्रदान करती हैं।


बस और बॉलीवुड

भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

बसें भारतीय संस्कृति का इतना बड़ा हिस्सा रही हैं कि उनका बार-बार भारतीय सिनेमा में उपयोग किया जाता रहा है। बसों का सबसे प्रमुख उपयोग 1972 में आई फिल्म बॉम्बे टू गोवा में हुआ है जिसमें सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, अभिनेत्री अरुणा ईरानी के साथ बॉम्बे (अब मुंबई) से गोवा तक बस यात्रा करते हैं। यह पूरी फिल्म ही बस में बनाई गई है। जिसमें मजेदार किस्से बनते रहते हैं। इसी फिल्म की तर्ज पर इसी नाम से 2007 में हास्य कलाकारो द्वारा फिल्म बॉम्बे टू गोवा बनाई गई थी जिसमें फिर से मुंबई से गोवा तक बस की सवारी को दर्शाया गया था। बस के द्वारा यात्रा करने पर आधारित एक और बड़ी सितारों से भरी फिल्म हनीमून ट्रेवल्स प्राइवेट लिमिटेड बस यात्रा को दर्शाते हुए बनाई गई थी। बसों और बस पर्यटनों को कई क्षेत्रीय फिल्मों में भी दिखाया गया है। इन फिल्मों के बारे में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि बस फिल्म में एक प्रमुख भूमिका निभाती है। एक अलग मार्ग के आधार पर, श्रीमान और श्रीमती अय्यर एक और फिल्म है जिसमें बस यात्रा में केंद्रीय भूमिका निभाती है। यहां तक कि गानों और अनुक्रमों ने अक्सर बसों और बसों के शीर्ष पर कोरियोग्राफ किया है। जैसी फिल्में किक, कमांडो और नायक जैसे शुरुआती दिनों की फिल्मों में भी बसों के आधार पर महान लड़ाई अनुक्रम हुए हैं वहीं बसों पर कई फिल्मी गीतों को भी दर्शाया गया है जिसमें वीर जारा, जब वी मैट, अंदाज अपना-अपना इत्यादि फिल्मों के माध्यम से बसों की सुंदरता और रास्ते के अद्भुद दृश्यों को दर्शाया गया है। 

तो  देरी किस बात अपना समान सहेजिए और निकल पड़िए भारत के इन स्थानों की बस यात्रा पर। हम आपकी मंगलमयी बस यात्रा की कामना करते हैं।


To read this article in English Click here
1014
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • COMMENT
  • LOVE THIS 0

Related Links

Comments / Discussion Board - भारत में सर्वश्रेष्ठ बस यात्राएं

Loader